माकपा का चूटीयारो ब्रांच सम्मेलन सम्पन्न, पार्वती देवी बनी सचिव

कोडरमा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के चूटीयारो कमिटी का 8वां ब्रांच सम्मेलन सोमवार को मजदूरों व किसानों की एकता को मजबूत करने के आह्वान के साथ सम्पन्न हुआ। सम्मेलन की अध्यक्षता पार्वती देवी ने किया। सम्मेलन की शुरुआत सीपीएम के जिला सचिव असीम सरकार ने पार्टी का लाल झंडा फहराकर किया और शहीद बेदी पर माल्यार्पण कर पार्टी सदस्यों व समर्थकों ने जनवादी आंदोलन में मारे गए लोगों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त किया। इस दौरान शहीदों तेरे अरमानों को मंजिल तक पहुंचाएंगे, शहीदों के खून से रंगा लाल झण्डा को लाल सलाम, मार्क्सवाद लेनिनवाद जिन्दाबाद, समाजवाद जिन्दाबाद आदि जोशीले नारे लगाए गए।

मजदूरों को गुलाम बनाने की हो रही साजिश

सम्मेलन का विधिवत उदघाटन करते हुए माकपा के राज्य सचिवमंडल सदस्य संजय पासवान ने कहा कि अपने श्रम से देश के लिए अकूत धन पैदा करने वाले मजदूरों को शासक वर्ग हाशिए पर धकेलने की साजिश कर रहा है। मजदूरों को गुलाम बनाने के लिए काम के घंटे 8 से बढ़ाकर 12 घंटे किया जा रहा है। किसानों की जमीन और खेती को कॉरपोरेट घरानों को देने के लिए किसान विरोधी तीन कृषि कानून लाया गया है, जिसका विरोध लगातार हो रहा है। डीजल पेट्रोल का दाम रोज रोज बढ़ने से महंगाई आसमान छू रहा है। आम आदमी का जीना मुश्किल हो गया है। मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों के चलते बेरोजगारी बेलगाम हो गई है। भाजपा सरकार की इन नीतियों के खिलाफ हर वर्ग को संगठित होकर संघर्ष करना होगा। सम्मेलन में सुरेन्द्र राम ने राजनीतिक सांगठनिक प्रतिवेदन रखा जिस पर पार्टी सदस्यों ने महत्वपूर्ण सुझाव दिए, जिसके बाद प्रतिवेदन को पारित किया गया। अंत में 6 सदस्यीय ब्रांच कमिटी के लिए सर्वसम्मती से पार्वती देवी ब्रांच सचिव चुनी गई। समापन भाषण करते हुए जिला सचिव असीम सरकार ने कहा कि मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के संविधान के अनुसार हर तीन साल में सभी स्तर की कमिटियों का सम्मेलन कर कामों की समीक्षा और आगे की योजना बनाई जाती है। समाज में सभी को बराबरी का अधिकार, एक समान शिक्षा और स्वास्थ्य की व्यवस्था व सबको रोजगार के लिए संगठन और आंदोलन को मजबूत करना होगा। इस अवसर पर रामप्रसाद दास, राजू साव, पार्वती देवी, उर्मिला देवी, अजय दास, सुजीत कुमार, छोटू राम, बैजनाथ साव, धर्मदेव पासवान, विजय राम आदि मौजूद थे।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी