बुनियादी कंप्यूटर शिक्षा से जोड़ने के लिए गिरिडीह के सलूजा गोल्ड स्कूल ने एकल ग्रामोथान के सहयोग से किया कंप्यूटर चलंत लैब की शुरुआत

गिरिडीहः
ग्रामीण इलाकों के युवकों को बुनियादी कंप्यूटर प्रशिक्षण देकर रोजगार से जोड़ने के उद्ेदश्य से गिरिडीह के सलूजा गोल्ड इंटरनेशनल स्कूल ने एकल ग्रामोथान फांउडेशन के सहयोग से एकल कंप्यूटर चलंत लैब नामक बस की शुरुआत किया। सोमवार को सलूजा गोल्ड स्कूल परिसर में इस कंप्यूटर चलंत लैब को स्कूल के निदेशक जोरावर सिंह सलूजा, एकल ग्रामोथान फांउडेशन के सदस्य प्रदीप जैन, अरुण जैन और अरुण साव ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान चलंत कंप्यूटर लैब के आईटी कौशल प्रभारी राजदीप, जीआरसी प्रमुख मृत्युंजय कुमार, ग्राम्य समंवयक अजीत कुमार, कंप्यूटर प्रशिक्षक आशुतोष और सौरभ समेत कई प्रशिक्षक मौजूद थे।

इधर जानकारी देते हुए स्कूल के निदेशक जोरावर सिंह सलूजा ने कहा कि एकल ग्रामोथान फांउडेशन और सलूजा गोल्ड के ज्वांईट अभियान का मकसद ग्रामीण युवाओं को नौकरी के लिए पलायन करने की जरुरत नहीं। बल्कि, कंप्यूटर ज्ञान हासिल कर एक-एक युवा प्राईवेट और सरकारी स्तर पर मिलने वाले अनुबंध नौकरी से खुद को जोड़ सके। इसके लिए सलूजा गोल्ड स्कूल प्रबंधन कंप्यूटर के दक्ष प्रशिक्षक के माध्यम से युवाओं को बुनियादी कंप्यूटर शिक्षा से जोड़ रहा है। इतना ही नही सोमवार से शुरु हुआ एकल कंप्यूटर चलंत लैब के इस बस में वो सारी व्यवस्थाएं है। जो युवाओं को बुनियादी कंप्यूटर शिक्षा की जानकारी दे सके। और अब यह चलंत लैब जिले के हर गांवो तक पहुंचेगा।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी