बवाल: भीड़ ने जलाई पुलिस जीप, चुनाव आयोग ने एसपी डीएम को हटाया

बिहार। दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान मुंगेर जिले के दिनदयाल चैक पर हुई पुलिसिया कार्रवाई के खिलाफ अब लोगों का गुस्सा फूट पड़ है। विसर्जन के तीन दिन बाद तक कोई प्रशासनिक कार्रवाई होते नहीं देख मामले ने तूल पकड़ लिया। पुलिस लाठीचार्ज और गोलीबारी के खिलाफ गुरूवार को युवाओं ने वासुदेवपुर ओपी में घूसकर तोड़फोड़ की वहीं लोगों की भीड़ पूरब सराय ओपी पहुंचे और खड़ी पुलिस वाहन को आग लगा दी। इसके पूर्व सैंकड़ों की संख्या में युवा सड़क पर उतरकर प्रशासन और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। इस दौरान युवाओं ने एसपी कार्यालय में खड़े एक वाहन के सीसे तोड़ डाले। युवा नारेबाजी करते हुए दोषी पुलिस कर्मियों पर अविलंब कार्रवाई की मांग कर रहे थे। इधर मामले की गंभीरता को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है। शहर के हरेक चैक चैराहों पर पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है।

इनपर हुई कार्रवाई

मामले को संज्ञान में लेते हुए चुनाव आयोग ने तुरंत जिले के डीएम व एसपी को हटाने के आदेश जारी किये हैं। वहीं डीएम व एसपी के स्थान पर नए अधिकारियों की पोस्टींग आज रात तक ही कर दिये जाने की संभावना है। वहीं मुंगेर पुलिस ने घटनाक्रम पर बड़ी कार्रवाई करते हुए मुफस्सिल थानाध्यक्ष और वासुदेवपुर ओपीध्यक्ष को लाइन हाजिर कर दिया है।

साजिश के कारण हुई घटना

घटना के बाद डीएम राजेश मीणा का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। अगर पुलिस की गलती सामने आई, तो ऐसी कार्रवाई की जाएगी की याद रखा जाएगा। डीएम ने कहा कि श्रद्धालुओं पर किसी प्रकार के बल प्रयोग का कोई आदेश नहीं दिया गया था। कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा बहुत बड़ी साजिश रची गई थी और उसी साजिश के कारण यह घटना घटी है जिसका बहुत जल्द खुलासा हो जाएगा।

ये है मामला

दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान पंडित दीन दयाल चैक के पास शंकरपुर की प्रतिमा के साथ चल रहे लोगों और पुलिस के बीच कहासुनी हुई थी। जिसके बाद पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किया गया था। लाठीचार्ज के विरोध में स्थानीय लोगों ने पथराव किया जिसके बाद पुलिस के द्वारा गोली चलाई गई थी। इस गोलीकांड में पांच स्थानीय लोग घायल हो गए, जबकि एक शख्स की मौत हो गईं। इस बवाल में 17 पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे।

दुकानें रही बंद

मामले को लेकर चेंबर आफ कॉमर्स के आह्वान पर मुंगेर बाजार की सभी दुकानें बंद रहीं। चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष कृष्ण कुमार अग्रवाल, सचिव मनोज जैन, आपात कमेटी के चेयरमैन संतोष अग्रवाल व उपाध्यक्ष दिनेश कुमार सिंह ने घूम-घूमकर बाजार में व्यवसायियों से दुकान बंद करने की अपील की। इस दौरान अधिकांश दुकानें भी बंद रहीं।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी