ओबीसी समूदाय को गुमराह करने का काम कर रहे है कुछ राजनीतिक दल

  • ओबीसी के मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजेश गुप्ता ने प्रेसवार्ता कर कहा
  • जनसंख्या के आधार पर ही ओबीसी को भी मिले आरक्षण का लाभ

राँची। राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजेश कुमार गुप्ता ने रविवार को प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ राजनीतिक दल और सामाजिक संगठन ओबीसी समुदाय को गुमराह कर रहे हैं। वैसे नेताओं को सलाह देता हूं कि पिछड़ों का नेतृत्व करना बंद करें और सन्यास ले ले। संविधान के अनुच्छेद 15(4), 16(4) के अनुसार जनसंख्या अनुपात में प्रतिनिधित्व की बात है, वहीं राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग ने ओबीसी समुदाय को 50 प्रतिशत आरक्षण देने की अनुशंसा राज्य सरकार से की है। झारखंड राज्य में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अगड़ी जाति की आरक्षण उनके जनसंख्या अनुपात में प्रावधान किया गया है, तो 52 प्रतिशत आबादी वाले ओबीसी समुदाय का आरक्षण 52 प्रतिशत क्यों नहीं किया जाता है।
कहा कि राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा 27 प्रतिशत आरक्षण की मांग करने वाले राजनीतिक दल व सामाजिक संगठन को सलाह देता है, कि वह अविलंब 27 की जगह 52 प्रतिशत आरक्षण की वकालत करने का काम करें या फिर ओबीसी को लेकर राजनीति करना बंद करें। प्रेस वार्ता में प्रदेश उपाध्यक्ष संजय चैरसिया, प्रदेश सचिव प्रेम नाथ साहू, संतोष शर्मा, आसिफ अंसारी उपस्थित थे।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी