झारखंड में गिरती कानून व्यवस्था के विरोध में मुख्यमंत्री का फूंका पुतला

  • भाजपाईयों ने जमकर की हेमंत सरकार के खिलाफ नारेबाजी
  • दो साल में गिरी राज्य की कानून व्यवस्था: प्रशांत जायसवाल

गिरिडीह। झारखंड में गिरती कानून व्यवस्था के खिलाफ एवं मनोहरपुर के पूर्व विधायक गुरूचरण नायक पर हुए नक्सली हमले तथा सिमडेगा में हुए मॉब लिंचिंग के विरोद्ध में बुधवार को डुमरी में पुतला दहन कार्यक्रम किया गया। इस दौरान प्रदेश कार्यसमिति सदस्य प्रशांत जायसवाल के नेतृत्व में भाजपाईयो ंने वनांचल चौक में मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए राज्य में कानून व्यवस्था में अविलंब सुधार की मांग की।

मौके पर भाजपा नेता प्रशांत जायसवाल ने कहा कि दो साल में राज्य की शासन व्यवस्था ऐसी हो गई है कि एक पूर्व विधायक भी सुरक्षित नहीं है तो आम आदमी का क्या हाल होगा। यह सहज ही अंदाजा लगा सकते हैं। कहा कि पूर्व विधायक के दो अंगरक्षकों की निर्मम हत्या कर दी गई। जबकि विधायक बाल-बाल बचे। वहीं सिमडेगा में युवक को पीट-पीटकर अधमरा कर जिंदा जला दिया गया। कहा कि राज्य के कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर हो गई है और मुख्यमंत्री विकास की बात करते हैं जो हास्यास्पद लगता है।

मौके पर भाजपा नेता कृष्णकांत शर्मा, आशीष अग्रवाल, निर्मल जायसवाल, लालमोहन महतो, युगल किशोर यादव, चन्द्रिका महतो, संजय अग्रवाल, बीरबल पंडित, प्रदीप भगत, कामेश्वर महतो, बिनोद राम, इन्दु जायसवाल, अर्जुन यादव, नकुल कुमार, शांति देवी, सावित्री देवी, भगिया देवी आदि उपस्थित थे।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी