आजसू कार्यकर्ताओं का अनशन दूसरे दिन भी जारी

पीडीएस संचालक और एमओ के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे है कार्यकर्ता

गिरिडीह। बीते 23 नवंबर को ग्रामीणों द्वारा जमुआ के पोबी मोड़ में पकड़े गए चावल लदे पिकअप वाहन को थाना से छोड़ दिये जाने के मामले में शनिवार से शुरू हुआ अनशन रविवार दूसरे दिन भी जारी रहा। डीलर व वाहन चालक पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए एमओ को बर्खास्त करने की मांग को लेकर आजसू पार्टी के बैनर तले शनिवार से प्रखंड मुख्यालय में आमरण अनशन शुरू किया गया है। आजसू के प्रखंड अध्यक्ष गौतम सागर राणा और सचिव मोहम्मद जावेद अनशन पर बैठे हैं।

23 नवंबर को कालाबाजारी के लिए जा रहे चावल लदे वाहन को पकड़ा

रविवार को प्रखंड मुख्यालय में अनशन स्थल पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए श्री यादव ने कहा कि बीते 23 नवंबर को पोबी के डीलर अनिल कुमार सिन्हा के घर से 52 पैकेट चावल लादकर जा रहे थे। बोलेरो पिकअप वाहन जेएच 12ई-7248 को ग्रामीणों ने पोबी मोड़ में खदेड़कर पकड़ा। वहां उपस्थित एजीएम, पुलिस और ग्रामीणों के समक्ष वाहन चालक ने चावल को उक्त डीलर के घर से लाने की बात कही। बाद में ग्रामीणों ने एजीएम के लिखित आश्वासन के बाद पुलिस पदाधिकारियों की मौजूदगी में पकड़े गए वाहन को थाना भेज दिया। आश्चर्य की बात यह है कि उसी दिन देर रात को एमओ के थाना पहुंचने के बाद पकड़े गए वाहन को थाना से छोड़ दिया गया। इस बात की जानकारी जिला से लेकर प्रखंड तक के पदाधिकारियों को देकर कार्रवाई की मांग की गई। मगर किसी तरह की कार्रवाई दोषी लोगों पर नही की गई। बाध्य होकर आजसू के लोगों को आमरण अनशन पर बैठना पड़ा है। उन्होंने कहा कि जब तक मांगे पूरी नही होंगी तब तक अनशन जारी रहेगा।

जांच के बाद होगी कार्रवाई: बीडीओ

इधर बीडीओ बिनोद कुमार कर्मकार ने इस बाबत बताया कि जिस चावल लदे वाहन को थाना से छोड़ा गया है उस वाहन के चालक ने हजारीबाग के एक राइस मिल का पेपर दिखाया था। रविवार को इसकी जांच के लिए एक टीम का गठन किया गया है। जांच टीम में शामिल लोगों की रिपोर्ट के अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी