गिरिडीह के डुमरी में आयुष्मान क्लीनिक को एसडीएम और सीएस ने किया सील

जांच में फर्जी चिकित्सक द्वारा संचालन का मामला आया सामने

गिरिडीहः
गिरिडीह के डुमरी अनुमंडल में संचालित आयुष्मान क्लीनिक को एसडीएम प्रेमलता मुर्मु ने सील कर दिया। कार्रवाई के दौरान सिविल सर्जन डा. सिद्धार्थ सन्याॅल और निमियाघाट थाना पुलिस भी मौजूद था। जानकारी के अनुसार स्थानीय लोगों द्वारा स्वास्थ मंत्री को डुमरी में आयुष्मान और अनुशील क्लिनिक को लेकर लगातार शिकायत किया जा रहा था। माना जा रहा है कि इसी शिकायत के आधार पर शुक्रवार को एसडीएम प्रेमलता मुर्मु के नेत्तृव में छापेमारी टीम का गठन किया गया। टीम में सिविल सर्जन के साथ निमियाघाट थाना पुलिस भी शामिल थी। इस दौरान टीम सबसे पहले अनुशील क्लीनिक ही पहुंची। लेकिन अनुशील के सारे दस्तावेज देखे गए। जिसमें क्लीनिक संचालक के पास क्लीनिक स्टेबलीसमेंट एक्ट के लाईसेंस होने के साथ एनओसी भी मौजूद थे। जांच के दौरान अनुशील के सारे दस्तावेज सही पाएं जाने के बाद उसे छोड़ दिया गया। लेकिन टीम जब आयुष्मान क्लीनिक पहुंची। तो क्लीनिक संचालक के पास ना तो एक्ट के तहत निबंधन के दस्तावेज थे, और ना ही एनओसी ही मौजूद था। छापेमारी के दौरान आुष्मान क्लीनिक का संचालन एक फर्जी चिकित्सक द्वारा किए जाने का बात सामने आया। जिसके पास चिकित्सक का कोई डिग्री नहीं था। इसके बाद भी आयुष्मान क्लीनिक का संचालन करने के साथ मरीजों को एडमिट किया जा रहा था। तो इलाज भी किए जाने की बात छापेमारी के क्रम में सामने आया। हर तरह से आयुष्मान क्लीनिक को गलत पाएं जाने के बाद एसडीएम के निर्देश पर उसे सील कर दिया गया। हालांकि कार्रवाई के दौरान संचालक और कोई स्टाॅफ भी मौजूद नहीं थे।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी