नवजात खरीद-ब्रिकी मामले में गिरिडीह पुलिस ने धनबाद के दपंति समेत दो सहियाओं को किया गिरफ्तार, दो फरार

गिरिडीहः
एक माह पहले गिरिडीह के सिहोडीह से बिके नवजात की बरामदगी कर मुफ्फसिल थाना पुलिस ने सीडब्लूसी को सौंप दिया है। फिलहाल नवजात सुरक्षित है। और सीडब्लूसी बाल संरक्षण इकाई के सदस्यों के देखरेख में है। लेकिन नवजात खरीद-ब्रिकी के मामले मंे पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इसमें नवजात को खरीदने वाले धनबाद के वीरेन्द्र कुमार झा के साथ नवजात की मां गुड़िया देवी भी शामिल है। क्योंकि धनबाद के राजेश कुमार उर्फ वीरेन्द्र झा से एक लाख की पेशगी दो सहियाओं और एक एबूलेंस चालक राजेश बरनवाल उर्फ गुड्डु, दीपक कुमार उर्फ अमन समेत दो सहियाओं के माध्यम से भुगतान कर दिया गया था। जबकि सौदा डेढ़ लाख में तय किया गया था। पुलिस की मानें तो मामले में चार महिला समेत पांच को दबोचा गया है। जिसमें दो सहिया, धनबाद के दंपति राजेश कुमार उर्फ वीरेन्द्र झा और उनकी पत्नी रंजना झा भी शामिल है। इन दोनों ने ही नवजात को सहियाओं और एबूलेंस चालक के सहयोग से खरीदा था। जबकि एबूलेंस चालक राजेश बरनवाल उर्फ गुड्डु और दीपक कुमार उर्फ आनंद अब भी फरार है। धनबाद के राजेश कुमार उर्फ वीरेन्द्र झा से नवजात खरीद-ब्रिकी का सौदा तय किया था। जानकारी के अनुसार जब एक माह पहले सौदा होने के बाद नवजात की खरीद-ब्रिकी हुई, तो नवजात की मां गुड़िया देवी ने थाना में पिछले माह 30 नवंबर को थाना में आवेदन दिया था। इसके बाद पुलिस ने जांच शुरु किया, तो पुलिस ने जांच के क्रम में ही जानकारी मिली कि अपने नवजात बच्चे के सौदा में उसकी मां की भूमिका महत्पूर्ण थी। मां ने ही अपने कलेजे के टुकड़े को बेंचने का सौदा तय करने के लिए तैयार हुई थी।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी