दिल्ली में बढ़ने लगा प्रदूषण, डीजल-पेट्रोल जनरेटर चलाने पर पाबंदी

सीपीसीबी और डीपीसीसी की सभी टीमें चैकस, जारी किये आवश्यक निर्देश

दिल्ली। देश की राजधानी एक बार फिर प्रदूषण की चपेट में आ गई है। बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए दिल्ली-एनसीआर में आज से ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रैप) लागू हो जाएगा। अगले आदेशों तक आवश्यक सेवाओं को छोड़कर डीजल-पेट्रोल जनरेटर पूरे ठंड के मौसम में बंद रहेंगे। प्रदूषण का स्तर बढ़ने पर दूसरी पाबंदियां भी लागू की जा सकती है। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर रोक लगाने के उद्देश्य से बनाये गय नियमों को लागू करने के लिए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) व दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (डीपीसीसी) ने भी कमर कस ली है।

निरीक्षण के लिए गठित हुई 50 टीमें

औचक निरीक्षण के लिए 50 टीमें गठित करने के साथ ही सभी सिविक एजेंसियों को निर्देश दिए हैं कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में नियमों को पालन सुनिश्चित करें। डीपीसीसी ने बुधवार को एमसीडी, डीडीए, पीडब्ल्यूडी समेत सभी एजेंसियों को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि दिल्ली में गुरुवार से डीजल-पेट्रोल जेनरेटर बंद रहेंगे। इसके एवज में बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करने का निर्देश बिजली कंपनियों को दिया गया है। हालांकि, हेल्थ केयर सेवा, दिल्ली मेट्रो, रेलवे, एलीवेटर समेत दूसरी आवश्यक सेवाओं को इस पाबंदी से अलग रखा गया है। डीपीसीसी ने अपने आदेश में कहा है कि ईपीसीए की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन हो, जिससे वायु प्रदूषण को सीमित रखने में मदद मिल सके।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी