कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए गिरिडीह प्रशासन ने तैयार किया एक्शन प्लाॅन

जिले में छह हजार स्वाब कलेक्शन का लक्ष्य, प्रखंड स्तर के लिए भी लक्ष्य निर्धारित

गिरिडीहः
दुबारा पांव फैलाते कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए गिरिडीह प्रशासन और स्वास्व विभाग ने एक बार फिर अभियान शुरु करने का निर्णय लिया है। डीसी राहुल सिन्हा के सुझाव पर स्वास्थ विभाग ने प्रखंड स्तर पर टेस्टिंग और स्वाब लेने का फैसला किया है। सोमवार को हुए बैठक के दौरान छह हजार संदिग्धों के सैंपल लेने की बात कही गई। साथ ही कंटेनमेंट जोन और हाॅटस्पाॅट जोन में जांच अभियान को गति देने की बात कही गई। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर ही डीसी ने यह भी सुझाव दिया कि जिन क्षेत्रों की आबादी अधिक है। और सामुदायिक शौचालय का इस्तेमाल किया जाता है। वहां के साथ-साथ हाट बाजार फल और सब्जी मंडी में खास कैंप लगाकर स्वाब लेने का निर्देश दिया गया। कोरोना को लेकर हुए हुए विशेष बैठक के दौरान डीसी ने प्रखंड स्तर पर आरटीपीसीआर जांच को बढ़ावा देने की बात कही। इसके लिए डीसी के निर्देश पर हर प्रखंड के लिए लक्ष्य भी तय किया गया। जिसमें गांवा और तिसरी के लिए 450-450, धनवार में 500 स्वाब कलेक्शन, बिरनी और बगोदर में 400-400 कलेक्शन लेने का निर्देश दिया गया। वहीं जमुआ में 700 तो सरिया में 375 और देवरी में 400 व बेंगाबाद में 400 और गांडेय में 400 के अलावे सदर प्रखंड में छह सौ का लक्ष्य तय किया गया। जबकि पीरटांड, डुमरी में क्रमशः तीन सौ और 650 का लक्ष्य तय किया गया है। डीसी की अध्यक्षता में हुए बैठक के दौरान निर्देश दिया गया कि जिन मापदंडो के अनुरुप स्वाब कलेक्शन का काम किया जाता था। उसी के अनुसार जांच कर स्वाब लेने के कार्य को पूरा किया जाना है।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी