गिरिडीह के गांडेय में पांच दिनों पहले हुए खूनी झड़प में जख्मी वृद्ध का रिम्स में मौत

गिरिडीहः
गिरिडीह के गांडेय थाना इलाके मंडरडीह गांव में पांच दिनों पहले दो पक्षों के बीच हुए खूनी हिंसक झड़प की घटना में पिता-पुत्र कादिर और कबीर अंसारी गंभीर रुप से घायल हो गए थे। वहीं पांच दिनों बाद गुरुवार को कादिर अंसारी की मौत रिम्स में इलाज के दौरान हो गया। इसके बाद परिजनों का गुस्सा भड़क उठा। और परिजनों ने गांडेय पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि शुक्रवार को इसके खिलाफ रोड जाम किया जाएगा। पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब पांच दिन पहले ही झड़प हुआ था। और पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में भी लिया था। लेकिन आरोप है कि पुलिस ने दोनों आरोपियों को छोड़ दिया था। कोई कार्रवाई नहीं किया था। परिजनों का गुस्सा भड़कता देख पुलिस द्वारा गुरुवार की शाम दो महिलाओं समेत तीन आरोपियों को हिरासत में लिए जाने की बात बताते चले कि ट्रैक्टर से मिट्टी ढोने के मामूली विवाद में मंडरडीह गांव में दो पक्षों में खूनी झड़प हुआ था।

जिसमें एक पक्ष के कादिर अंसारी को उसी गांव के फुरकान अंसारी, इरफान अंसारी, नईमुद्ीन अंसारी, सवेरा बीबी, सबीना खातून, सलमा खातून और खुशबू खातून ने लाठी और फरसा से हमला कर गंभीर रुप से जख्मी कर दिया था। इस दौरान पिता को बचाने आएं कादिर के बेटे कबीर अंसारी समेत घर की महिलाओं जैरुन बीबी और मरियम बीबी के साथ भी आरोपियों द्वारा जमकर मारपीट किया गया था। जबकि घटना के वक्त मृतक कादिर अंसारी अपने ट्रैक्टर से मिट्टी ढो रहा था। और इसे लेकर ही दोनों पक्षों में खूनी झड़प हुआ था। जानकारी मिलने के बाद गांडेय थाना पुलिस भी घटनास्थल पहुंची थी। और दोनों पिता-पुत्र को इलाज के लिए पहले सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र भेजा। जहां से दोनों को इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा गया। लेकिन कादिर की हालत गंभीर रहने के कारण उसे रिम्स रेफर कर दिया गया। जहां चार दिनों तक जीवन से जंग लड़ते हुए कादिर ने दम तोड़ दिया।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी