वन विभाग ने किया एक दिवसीय स्पोर्ट्स मीट का आयोजन

  • फुटबाल, बॉलिवाल, दोड़ समेत कराए गई कई स्पोर्ट्स, सिर्फ वन विभाग के कर्मी हुए शामिल
  • वन कर्मियों को शारीरिक रूप से फीट रखना स्पोर्टस मीट का उद्देश्य: आरसीसीएफ़

गिरिडीह। गिरिडीह वन प्रमंडल के एक दिवसीय फॉरेस्ट स्पोर्ट्स मीट शनिवार को स्टेडियम के साथ इंडोर स्टेडियम में आयोजित हुआ। वन एवं पर्यावरण मंत्रालय के प्रतिभावान खिलाड़ी चयन स्पोर्ट्स मीट में मेजबान टीम गिरिडीह के साथ पांच डिविजन, तीन सर्किल और एक रीजनल टीम हिस्सा ले रही है। स्पोर्ट्स मीट में फुटबाल, शॉटपुट, अलग अलग कैटिगरी में दौड़, बैडमिंटन व बॉलीबॉल का आयोजन कराया गया। स्पोर्ट्स मीट की शुरुवात आरसीसीएफ़ वैंकटशवरलू, डीएफओ प्रवेश अग्रवाल, सब्बबा आलम और आरसीएफ ने फुटबाल में किक मारकर किया।

इस दौरान शॉटपुट में निर्णायक मंडली के सदस्यो ने पहले स्थान के लिए रामेश्वर महतो के नाम की घोषणा की। जबकि दूसरे और तीसरे खिलाड़ी के रूप में सिकंदर पासवान और मोहम्मद सिंटू के नाम की घोषणा हुई। वहीं 1500 मीटर दौड़ के लिए पहले स्थान में आलोक मोहन पंडित, दूसरे स्थान पर राजेंद्र कुमार चुने गए। सौ मीटर दौड़ में ही पहले स्थान पर सिकंदर पासवान चुने गए, दूसरे और तीसरे स्थान के लिए मनीष पांडे और रोहित पंडित के नाम की घोषणा हुई।

मौके पर उपस्थित आरसीसीएफ वैंकटशवरलू ने कहा कि शनिवार को इस एक दिवसीय स्पोर्ट्स मीट में कई खेल कराए जा रहे है। इस रीजनल स्पोर्ट्स मीट में चयनित खिलाड़ी अब अगले कुछ दिनों बाद रांची में होने वाले राज्य स्तरीय स्पोर्ट्स मीट में शामिल होंगे। जबकि राज्य स्तर के स्पोर्ट्स मीट में चयनित खिलाड़ियों को मार्च में हरियाणा के पंचकुला में होने वाले नेशनल स्पोर्ट्स मीट में भेजा जाएगा। कहा कि वन एवं पर्यावरण मंत्रालय का उद्देश्य वन विभाग से जुड़े कर्मियों को उनके शारीरिक फिटनेस को मजबूती देना है। इसलिए हर साल वन एवं पर्यावरण मंत्रालय इस प्रकार के आयोजन कराता है। जिसमें सिर्फ वन विभाग से जुड़े वनरक्षी, रेंजर समेत कई और स्तर के वन कर्मी शामिल होते है।

एक दिवसीय स्पोर्ट्स मीट में हुए एथेलेटिक्स में टेक्निकल अधिकारी राजेंद्र गुप्ता और रेफरी के रूप मन्नोवर आलम मौजूद थे।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी