बिहार चुनाव सीट शेयरिंग में भाजपा को 121 व जदयू को मिली 122 सीटें

जदयू अपने कोटे से जीतन राम मांझी व भाजपा अपने कोटे से मुकेश सहनी की पार्टी को देगी सीटें

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर एनडीए में सीट शेयरिंग को लेकर अहम बैठक हुई। नीतीश कुमार के आवास पर हुई इस बैठक में बीजेपी के नेताओं ने सीट शेयरिंग पर चर्चा की। सीट शेयरिंग में जदयू को 122 सीटें मिली हैं। जदयू अपने कोटे के इन 122 सीटों में सात सीटें जीतनराम मांझी की पार्टी हम को देगा। वहीं बीजेपी के खाते में 121 सीटें आई है। बीजेपी अपने कोटे में से मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी पार्टी को सीटें देगी।

दोनों पार्टियों के नेताओं ने मंगलवार शाम गठबंधन व सीटों का औपचारिक ऐलान कर दिया है। 243 सीटों वाली बिहार विधानसभा की 115 सीटों पर नीतीश कुमार की जेडीयू लड़ेगी। जबकि बीजेपी 112 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। महागठबंधन छोड़ एनडीए में आने वाले मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी को 9 सीटें मिली हैं। वहीं जीतनराम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा 7 सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारेगी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही बीजेपी चुनाव लड़ेगी और सरकार बनाएगी, इसमें किसी प्रकार के शक की गुंजाइश नहीं है। संजय जायसवाल ने चिराग पासवान को साफ संदेश देते हुए कहा है कि अगर वह नीतीश कुमार का नेतृत्व नहीं स्वीकार करते तो एनडीए से भी हटना पड़ेगा। इससे पहले बीजेपी और जेडीयू ने 2010 का विधानसभा चुनाव साथ लड़ा था। तब जेडीयू 141 और बीजेपी 102 सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारी थी।

वर्ष 2010 के चुनाव में जेडीयू ने 115 तो बीजेपी ने 91 सीटों पर जीत हासिल की थी। लेकिन इस बार बीजेपी नीतीश से सीटों का मोलभाव करने में सफल रही। बीजेपी को जेडीयू से वैसे तो एक सीट कम मिली है। लेकिन बीजेपी जेडीयू से तीन कम सीटों पर चुनाव लड़ेगी। हालांकि बीजेपी गठबंधन में सीटों के अंतर को कम करने में सफल रही है। इससे पहले बैठक में बीजेपी चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस, डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी और संगठन प्रभारी भूपेंद्र यादव सहित बीजेपी के अन्य नेताओं ने हिस्सा लिया। पार्टी ने देवेंद्र फडणवीस और भूपेंद्र यादव को अंतिम बातचीत की जिम्मेदारी सौंपी।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी