नहीं रहें देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत

  • तमिलनाडु के कुन्नूर में हुआ सीडीएस जनरल बिपिन रावत का चौपर क्रैश
  • सवार 14 में से 13 लोगों की गई जान, डीएनए टेस्टिंग से होगी शवों की पहचान

दिल्ली। तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को वायुसेना का चौपर दोपहर को दुर्घटनाग्रस्त हो गया। वायुसेना के एमआई-17 हेलिकॉप्टर में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बिपिन रावत, उनकी पत्नी सहित 14 लोग सवार थे। हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत व उनकी पत्नी सहित 13 लोगों की मौत हो गई है। क्रैश के बाद हेलिकॉप्टर में आग लगने की वजह से शव बुरी तरह झुलस गए हैं। ऐसे में शवों की पहचान के लिए डीएनए जांच कराई जाएगी।

भारतीय वायुसेना ने सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य लोगों की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत की पुष्टि की है। हादसे में वायुसेना के ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की ही जान बच पाई है। उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

आधिकारिक सूत्रों की माने तो यह हादसा कोहरे के कारण कथित तौर पर कम दृश्यता की वजह से हुआ। वायुसेना ने हालांकि जनरल रावत की हालत को लेकर कोई जानकारी नहीं दी। वायुसेना का एमआई-17वीएच हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ है और इस हादसे के कारण का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए गए हैं। हेलिकॉप्टर ने कोयंबटूर के पास सुलुर वायुसेना अड्डे से उड़ान भरी थी।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी