Latestदेशपॉलिटिक्सबिहार

बिहार में टूट के कगार पर सरकार, जदयू और लोजपा में हो सकती है भिड़त

बिहार: बिहार विधानसभा चुनाव की घोषणा जल्द ही होने वाली है। विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश की विभिन्न राजनैतिक पार्टियां तैयारियों में जूट चुकी है। ग्रामीण चैपाल से प्रदेश की चैपाल के लिए जोर-आजमाईश जारी है। ऐसे में राजनीति के धुरंधर अभी से ही जोड़-तोड़ के खेल में जूट चुके हैं। इसकी बानगी वर्तमान एनडीए सरकार में भी देखने को मिल सकता है। जहां टूट की प्रबल आशंका बनी हुई है।

लोजपा ने बुलाई संसदीय समिति की बैठक

एनडीए की सहयोगी पार्टी लोजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव को मद्धेनजर रखते हुए सोमवार को संसदीय समिति की बैठक बुलाई है। बैठक में पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान की उपस्थिति में बिहार युनिट के नेता विधानसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेंगे। साथ ही लोजपा बिहार में नीतीश सरकार से समर्थन वापस लेने पर भी चर्चा हो सकती है। सूत्रों के अनुसार लोजपा आसन्न विधानसभा चुनाव में जदयू के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारने पर भी विचार कर सकती है।

दोनों पार्टियों ने एक दूसरे के खिलाफ खोला मोर्चा

गौरतलब है कि बीते कुछ समय से जदयू और लोजपा में कड़वाहट आयी है और दोनों पार्टियों ने खुलकर एक दूसरे पर हमला बोला है। लोजपा प्रमुख चिराग पासवान इन दिनों बिहार की नीतीश सरकार पर लगातार निशाना साध रहे हैं। वहीं जदयू ने भी लोजपा के खिलाफ जंग तेज कर दी है। माना जा रहा है कि हाल ही में हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के महागठबंधन से नाता तोड़कर एनडीए का दामने के पीछे भी जदयू की रणनीति रही है। जदयू ने लोजपा को काउंटर करने के लिए ही जीतनराम मांझी के नेतत्व वाली हम पार्टी को एनडीए में शामिल कराया है।

सीटों को लेकर नहीं बन पा रही है बात

दरअसल लोजपा और जदयू के बीच टकराहट का प्रमुख मुद्धर सीटों को लेकर है। सूत्रों के अनुसार जदयू लोजपा को 25 से ज्यादा सीट देने पर सहमत नहीं है जबकि लोजपा जहां बिहार विधानसभा चुनाव में 36 सीटों की मांग पर अड़ रहा है। पिछले विधानसभा चुनाव में लोजपा ने 42 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे लेकिन उसे सिर्फ दो सीटों पर जीत हासिल हुई थी।
Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons