गिरिडीह के बिरनी में नक्सलियों ने पुल निर्माण योजना स्थल में मिक्सचर मशीन के साथ जेसीबी में लगाया आग

घटना की वजह लेवी नहीं मिलने के रुप में आया सामने, 15 की संख्या में पहुंचे थे माओवादी

गिरिडीहः
गिरिडीह के बिरनी थाना क्षेत्र के टर्बोधर्मपुर गांव में नक्सलियों ने जमकर तांडव मचाया। और पुल निर्माण के कार्य में लगे मिक्सचर मशीन के साथ एक जेसीबी और बाईक में आग लगा दिया। घटना शुक्रवार की देर रात करीब 10 बजे का बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार करीब 15 की संख्या में आएं माओवादियों में एक नक्सली वर्दी में थाा। जबकि और सारे साधारण कपड़े में। लेकिन सभी हथियार से लैस थे। देर रात आएं माओवादियों ने इस दौरान सबसे पहले निर्माण कार्य के मुंशी को अपने कब्जे में लिया। और उसके साथ मारपीट भी की। इसके बाद माओवादियों ने कुछ मजदूरों के साथ भी मारपीट किया। जानकारी के अनुसार सारे मजदूर योजनास्थल पर अस्थायी कमरा बनाकर रह रहे है। जेसीबी, मिक्सचर और बाईक में आग लगाने के घटना की वजह ठेकेदार द्वारा लेवी नहीं दिए जाने के रुप में सामने आया है। हालांकि यह स्पस्ट नहीं हो पाया है कि माओवादियों ने ठेकेदार को लेवी देने के लिए पहले भी पत्राचार किया था, या नहीं। लेकिन घटना का कारण लेवी नहीं मिलना ही बताया जा रहा है। इस बीच इलाके के एसडीपीओ विनोद महतो और बिरनी थाना प्रभारी जानकारी मिलने के चंद घंटे बाद देर रात ही घटनास्थल पहुंचे। और पूरे मामले की जानकारी ली। वैसे दो माह के भीतर माओवादियों द्वारा किसी सरकारी योजना स्थल में मशीनों को आग लगाने की यह दुसरी घटना है। इसे पहले माओवादियों ने डुमरी में ही घटना को अंजाम दिया था। इधर बताया जा रहा है कि बिरनी के जिस धर्मपुर गांव में माओवादियों ने घटना को अंजाम दिया। वहां पथ प्रमंडल द्वारा पुल निर्माण का कार्य किया जा रहा था। पथ प्रमंडल के इस योजना का कार्य ठेकेदार दिलीप राय द्वारा किया जा रहा था। घटना के बाद बिरनी पुलिस अब चैकस है और माओवादियों की गिरफ्तारी को लेकर लगातार छापेमारी कर रही है।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी