म्ुंद्रिका यादव गोली फायरिंग कांड का गिरिडीह के तिसरी थाना पुलिस ने किया खुलाासा, तीन गिरफ्तार, दो फरार

गिरिडीहः
गिरिडीह के तिसरी थाना पुलिस ने मुंद्रिका यादव पर हुए गोली फायरिंग मामले का खुलासा कर लिया है। वहीं इस गोली फायरिंग मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को भी गिरफ्तार करने में सफलता पाया। जबकि दो आरोपी अब भी फरार है। फरार अपराधियों में छोटू यादव उर्फ बुधका यादव और सुनील यादव शामिल है। जबकि गिरफ्तार अपराधियांे में गिरिडीह के थानसिंहडीह थाना क्षेत्र निवासी अनिल यादव, जमुई के खैरा थाना क्षेत्र के दरिमा गांव निवासी प्रमोद यादव और जमुई के ही डुमरकोला गांव निवासी नीरज कुमार शामिल है। तिसरी पुलिस ने मुंद्रिका यादव फायरिंग कांड का खुलासा करने के साथ गिरफ्तार अपराधियों के पास से तीन मोबाइल, एक स्कार्पियो गाड़ी, एक देसी कट्टा और एक जिंदा कारतूस के साथ एक खोखा भी बरामद करने में सफलता पाया। मंगलवार की देर शाम प्रेसवार्ता कर डीएसपी संजय राणा और तिसरी थाना प्रभारी पिक्कू प्रसाद ने जानकारी देते हुए बताया कि मुंद्रिका यादव पर गोली फायरिंग का मकसद पांचो अपराधियों द्वारा उनके बेटे का जमुई में साल 2020 में हुए हत्याकांड में गवाही देने से रोकना था। क्योंकि पुरानी रंजिश के कारण मुंद्रिका यादव के बेटे अंकित यादव की हत्या हुई थी।

और हत्याकांड में शामिल देवेन्द्र यादव, केदार यादव और महेश यादव ने मिलकर कर दिया था। हत्याकांड के बाद जमुई के कोर्ट में मामला सुनवाई के बाद अंतिम बहस में था। और यही कारण हत्याकांड मंे शामिल तीनों आरोपियों ने मिलकर पांच नए अपराधियों को चुना और मुंद्रिका यादव को भयभीत करने के लिए 24 नवंबर की रात तिसरी में गोली फायरिंग के लिए भेजा। इधर पुलिस अब दोनों अपराधियांे के गिरफ्तारी में जुटी हुई है।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी