जिला में राज्य स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता का महाकुंभ

  • बालक में पलामू, लोहरदगा व बालिका में गढ़वा की टीम रही उद्घाटन मैच विजेता
  • राज्य स्तरीय कबड्डी होना कोडरमा के लिए गौरव की बात: अमित यादव
  • छिपी प्रतिभाओं को भी उभारने का हो रहा है कार्य: शालिनी

कोडरमा। झारखंड कबड्डी एसोसिएशन के तत्वावधान में कोडरमा जिला कबड्डी संघ द्वारा तीन दिवसीय बालक बालिका जूनियर कबड्डी प्रतियोगिता का महाकुंभ शुक्रवार की शाम से झुमरी तिलैया के सीएच हाई स्कूल के मैदान में शुरू हो गया। इसमें राज्य भर के 646 खिलाड़ी के अलावा बोकारो स्टील, टाटा स्टील, ब्रह्म ऋषि सेवा मंच, विनोबा भावे खेल संघ, बिरसा मुंडा कबड्डी संघ की टीम हिस्सा ले रही है। उद्घाटन मैच बालक में पलामू और बोकारो सेल के बीच एवं लोहरदगा और बिरसा अकाडेमी के बीच जबकि बालिका ग्रुप में गढ़वा और टाटा स्टील के बीच भिड़ंत हुई। जिसमें पूरा मैदान कबड्डी कबड्डी से गूंजता रहा। दूधिया रोशनी में मैच को देखने के लिए पूरा शहर उमड़ पड़ा।
तीन दिवसीय प्रतियोगिता का शुभारंभ उद्घाटनकर्ता के रूप में बरकट्ठा विधायक अमित कुमार यादव, मुख्य अतिथि के रुप में जिप प्रधान शालिनी गुप्ता एवं अतिथि के रूप में राज्य कबड्डी संघ के अध्यक्ष आरआर मिश्रा, सचिव विपिन्न कुमार सिंह, टूर्नामेंट के तकनीकी चेयरमैन तेज नारायण माधव, राम प्रवेश सिंह, हैदर हुसैन, अनुशासन समिति के रामदास के अलावा कोडरमा जिला कबड्डी संघ के संरक्षक प्रमोद कुमार, अध्यक्ष संदीप सिन्हा, उपाध्यक्ष मोहम्मद तौसीफ हुसैन, सचिव धर्मेंद्र सिंह, सह सचिव विजय साहू, कोषाध्यक्ष विशाल सिंह, विकास कुमार आदि उपस्थित थे।

मैच में भारतीय खेल प्राधिकार गुजरात में ट्रेनिंग ले रहे हैं एवं गोल्ड मेडलिस्ट सौरभ कुमार के अलावा कई राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी अपनी प्रतिभा का जौहर दिखा रहे हैं। मंच का संचालन नवीन पांड्या एवं सोनाली बरनवाल ने संयुक्त रूप से किया। कार्यक्रम की शुरुआत टीवी कलाकार पायल सिंह ने गणेश वंदना पर नृत्य प्रस्तुत किया। सभी टीमों ने अपने अपने झंडे के साथ मार्च पास्ट किया।

खेल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उद्घाटनकर्ता अमित यादव ने कहा कि राज्य में खेल प्रतिभा की कमी नहीं है। उन्हें एक बेहतर मंच प्रदान करने की आवश्यकता है और राज्य स्तरीय कबड्डी होना कोडरमा के लिए गौरव की बात है। ग्रामीण खिलाड़ियों को इससे लाभ मिलेगा। हर गांव में बच्चों को कबड्डी से जोड़ने का कार्य किया जाना चाहिए और कबड्डी एसोसिएशन के लिए सराहनीय कार्य कर रही है। वहीं जिप प्रधान शालिनी गुप्ता ने कहा कि राज्य के खिलाड़ी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं। इस तरह की प्रतियोगिता का आयोजन प्रदेश में निरंतर होने से खेल और खिलाड़ियों को एक उचित प्लेटफार्म मिल रहा है। छिपी प्रतिभाओं को भी उभारने का कार्य किया जा रहा है।
प्रदेश अध्यक्ष आर आर मिश्रा और सचिव विपिन कुमार सिंह ने खेल के नियम और अनुशासन की जानकारी देते हुए कहा कि यहां से चयनित खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली प्रतियोगिता में राज्य का नाम रोशन करे। भारत में 1938 में कबड्डी खेल शुरू हुआ इसमें पहले कबड्डी कबड्डी की जगह हु तू हु तू के नाम से जाना जाता था। हर घर मोहल्ले से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेले जाने वाला आधुनिक खेल है।

17वीं राजस्थानी जूनियर बालक बालिका कबड्डी प्रतियोगिता का उद्घाटन मैच बालिका वर्ग में टाटा स्टील और गढ़वा के बीच खेला गया इसमें गढ़वा की टीम ने टाटा स्टील को 8 रन से पराजित कर उद्घाटन में जीता टाटा स्टील ने 26 और गढ़वा ने 34 अंक हासिल किया था। वहीं बालक वर्ग में लोहरदगा और बिरसा तृषा कबड्डी के बीच खेला गया। इसमें लोहरदगा भी 8 अंक से जीत दर्ज की इसमें लोहरदगा को 29 बिरसा कबड्डी को 21 अंक हासिल किया जबकि तीसरे मैच में कलाकारों के बीच हुआ। इसमें पलामू ने 4 रन से जीत दर्ज की पलामू को 23 अंक और बोकारो को 19 अंक हासिल हुआ।

इस मौके पर डॉ उपेंद्र भदानी, डॉक्टर सागर मणि, कैलाश चौधरी, स्कूल के डायरेक्टर धर्मेंद्र सिंह, ओम प्रकाश राय, प्रोफ़ेसर जेपी शाह, अनिल कुमार, शैलेंद्र कुमार अभय, जय गोपाल शर्मा समेत कई खेल प्रेमी मौजूद थे।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी