मुआवजा नही मिलने से परेशान लोगों का अमरण अनशन दूसरे दिन भी जारी

  • बिना मुआवजा के तोड़ा जा रहा था मकान व दुकान
  • पूर्व जिलाध्यक्ष ने मौके पर पहंुचकर मामले से हुए अवगत
  • एसडीओ से बात कर अनशकारियों की मांगों को पूरा करने की मांग

डुमरी। बगैर मुआवजा भुगतान किये मकान व दुकान तोड़ने एवं संबंधित विभाग द्वारा मुआवजा भुगतान में आनाकानी करने व टालमटोल रवैया अपनाने से रैयतों की परेशानी बढ़ी गई है। जिसे देखते हुए डुमरी अंचल के मौजा डुमरी के प्लॉट संख्या 1299 के रैयतों की आईबीपी डुमरी स्थित अपने-अपने टूटे घर के सामने जीटी रोड किनारे आमरण अनशन पर बैठ गये है। जो दूसरे दिन शनिवार को भी जारी रहा। आमरण अनशन के दूसरे दिन पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष प्रशांत जायसवाल अपने समर्थकों के साथ अनशन स्थल पहुंचे और अनशनकारियों से बातचीत कर उनके मांगों के बाबत जानकारी ली। साथ ही स्थल से ही एसडीएम डुमरी से दुरभाष पर बात कर मांग को पूरा करने की दिशा में अपने स्तर से सार्थक पहल करने की मांग की।


मौके पर श्री जायसवाल ने कहा कि भू-अर्जन एवं सड़क निर्माण कंपनी डीबीएल की मिलीभगत एवं तानाशाही से रैयतों को मुआवजा नहीं मिल पाया है, नतीजतन आज सभी रैयत बेघर की जीवन जीने को विवश है। बताया कि यदि प्रशासन एवं भू-अर्जन रैयतों की मांग शीघ्र पूर्ण नहीं करती है तो मैं अपने समर्थकों के संग रैयतों के हक हेतु संघर्ष करने से भी पीछे नहीं रहूंगा। दूसरे दिन भी 4 रैयतों क्रमशः संतोष वर्णवाल, उमाशंकर राय, रामचरित्र सिंह, रंजीत राणा अनशन पर रहे।


इस दौरान भाजपा नेता कृष्णकांत शर्मा, युगल यादव, राजकमल महतो, बासुदेव यादव आदि उपस्थित थे। खबर प्रेषण तक कोई प्रशासनिक अधिकारी अनशन स्थल नहीं पहुंचे थे और न ही कोई स्वास्थ्य कर्मी ही अनशनकारियों की स्वास्थ्य जांच के लिए पहुंचे थे।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी