बहुजन क्रांति मोर्चा और भारत मुक्ति मोर्चा 25 जून को भारत बन्द का किया आह्वान

  • कहा देश की एकता ओर अखण्डता को तोड़ने की हो रही है साजिश

गिरिडीह। देश की एकता और अखण्डता को खतरे में डालने वाली ताकतों के खिलाफ राष्ट्रीय परिवर्तन मोर्चा, बहुजन क्रांति मोर्चा और भारत मुक्ति मोर्चा के द्वारा 25 जून को भारत बन्द का आह्वान किया गया है। इस बात की जानकारी राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार, बहुजन क्रांति मोर्चा के जिला प्रभारी सुरेन्द्र प्रसाद कुशवाहा व राष्ट्रीय किसान मोर्चा के जिला महासचिव रीतलाल प्रसाद वर्मा ने संयुक्त रूप से बयान जारी कर दी। उन्होंने बताया कि मथुरा, काशी, ज्ञानवापी का मुद्दा एवं नुपुर शर्मा द्वारा पैगम्बर मुहम्मद साहब की बदनामी करने वाली बात देश की एकता और अखण्डता को तोड़ने वाली बात है। पैगम्बर मुहम्मद साहब की बदनामी करने वाली बात की प्रतिक्रिया राष्ट्रीय और अतंर्राष्ट्रीय स्तर पर हुई और देश की बहुत बदनामी हुई।

कहा कि आरएसएस व भाजपा के लोग सोचते हैं 2024 का लोकसभा चुनाव नजदीक है, इसलिए नुपुर शर्मा से ऐसा बयान दिलवा रहे हैं ताकि हिन्दू, मुसलमान का धुव्रीकरण किया जा सके। 1947 के पहले इसी तरह का ध्रुवीकरण कांग्रेस और गांधी जी द्वारा किया गया था। जिसके कारण भारत का विभाजन हुआ और पाकिस्तान बना। आज पुनः एक बार फिर वही स्थिति बनती नजर आ रही है।

कहा कि देश की एकता ओर अखण्डता को बचाने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर बड़़ी सामाजिक कार्यवाही करने की जरूरत है और इस सामाजिक कार्यवाही को करने के लिए देश की एकता और अखण्डता के समर्थन में 25 जून को भारत बन्द का अहवान किया गया है।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी