गिरिडीह नगर निगम के योजनाओं में गड़बड़ी पर उखड़े भाजपा नेताओं ने अपने ही डिप्टी मेयर पर निकाला भड़ास और किया खिंचाई

भाजपा नेताओं के आक्रोश पर बोले डिप्टी मेयर प्रकाश सेठ, वर्तमान हालात में उन्हें भी निगम नहीं दे रहा तरजीह

गिरिडीहः
अपने कारनामों और बोर्ड की बैठकों में पारित प्रस्तावों को क्रियान्वित कराने में विफल रहने के कारण सुर्खियों में रहने वाला गिरिडीह नगर निगम में गुरुवार को भाजपा नेताओं ने अपने ही डिप्टी मेयर का घेराव किया। और डिप्टी मेयर प्रकाश सेठ को कई मुद्दों पर जमकर खरीखोटी सुनाई। डिप्टी मेयर से मिलने पहुंचे भाजपा के नगर अध्यक्ष हरमिंदर सिंह बग्गा, वरिष्ठ भाजपा नेता चुन्नूकांत के साथ संदीप डंगाईच और मोती लाल उपाध्याय ने इस दौरान डिप्टी मेयर को खरीखोटी सुनाते हुए कहा कि निगम द्वारा हाल में पारित हर योजनाओं में धांधली मची हुई है। भाजपा नेताओं ने इस दौरान डिप्टी मेयर का जब खिंचाई करना शुरु किया, तो डिप्टी मेयर प्रकाश सेठ ने भी माना कि यह सही है कि वर्तमान हालात में निगम में उन्हंे भी नजर अंदाज किया जा रहा है। डिप्टी मेयर रहते हुए उन्हें भी तरजीह नहीं दिया जा रहा। और ना ही किसी फैसले पर उनसे सुझाव लिए जाते है। ये सब किसके इशारे पर हो रहा है इसकी जानकारी उन्हंे नहीं है। फिलहाल हालात के कारण वो भी मजबूर है। इधर डिप्टी मेयर से मिलने पहुंचे भाजपा नेताओं ने कहा कि स्थिति ऐसी है कि ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए निगम ने शहरी क्षेत्र में कई ऐसे-ऐसे योजनाओं को स्वीकृति दे दिया है। जहां पहले से नालियां और सड़के बनी हुई है।
लेकिन लाखों रुपए दुबारा उन्हीं योजनाओं में काम शुरु कर दिया। डिप्टी मेयर सह भाजपा नेता से मिलने पहुंचे भाजपा नेताओं ने इस दौरान एक ज्ञापन सौंपा, और ज्ञापन के माध्यम से कहा कि वार्ड नंबर 10 में करोड़ो के लागत से सड़क निर्माण के साथ पुलिया और नाला निर्माण किया जा रहा है। वार्ड नंबर 10 के जिन स्थानों पर निर्माण कार्य हो रहा है। वहां एक बार भी उपनगर आयुक्त और डिप्टी मेयर ने जांच करना तक जरुरी नहीं समझा कि जब सड़क और पुलिया का निर्माण हो चुका हैै तो फिर नए योजनाओं की क्या जरुरत। बगैर सोचे-समझे पार्षदों के पत्र पर बोर्ड की बैठक में योजनाओं को स्वीकृति दे दी गई। कहा कि वार्ड नंबर 10 सिर्फ एक उदाहरण है कि लेकिन पूरे निगम इलाके में निगम के पदाधिकारी ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए योजनाओं में गड़बड़ी कर रहे है। डिप्टी मेयर प्रकाश सेठ की खिंचाई करते हुए भाजपा नेताओं ने इस दौरान यह भी कहा कि निगम के टैक्स क्लेक्टरों का रवैया भी आम लोगों के प्रति सही नही है। जबकि होल्डिधाारकों द्वारा वक्त पर निगम को भुगतान किया जाता है। इसके बाद भी करवसूली करने वाले भी धांधली किए हुए है। यही हाल अकांक्षा वेस्ट मैनेजमेंट का भी है। जितना करवसूली अकांक्षा द्वारा किया जाता है उसे अधिक अकांक्षा को निगम द्वारा भुगतान कर दिया जाता है।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी