वन भूमि का अतिक्रमण कर मकान और झोपड़ी बनाकर रहे अतिक्रमणकारियों पर देवरी में हुई बड़ी कार्रवाई

गिरिडीहः
वनभूमि का अतिक्रमण कर मकान और झोपड़ी बनाकर रह रहे कई अतिक्रमण कारियों से गिरिडीह के गांवा वन प्रक्षेत्र पदाधिकारियों ने जमीन को खाली कराया। गांवा सीओ राज मोहन तूरी, रेंजर अनिल कुमार और पुलिस निरीक्षक परमेशवर लियांगी ने पुलिस जवानों के मौजूदगी में जिले के देवरी के भेलवाघाटी के डुमरीटोला में वन भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया गया। इस दौरान भेलवाघाटी के इस डुमरीटोला में जेसीबी के सहारे कुछ पक्के मकानों के साथ झोपड़ी को ध्वस्त किया गया। यही नही जेसीबी से डुमरीटोला के आठ एकड़ वनभूमि में खेती कर रहे फसलों को भी वन विभाग के पदाधिकारियों ने पूरी तरह से नष्ट कर दिया। मकानों और फसलों को नष्ट करने की कार्रवाई इस दौरान तीन घंटे तक लगातार चलता रहा। डुमरीटोला में वनभूमि का अतिक्रमण कर अवैध रुप से मकान और झोपड़ी बनाकर रहे अतिक्रमणकारियों की संख्या कार्रवाई के दौरान पांच के करीब मिला। तो जेसीबी के सहारे उन मकानों को तोड़ा गया। जबकि कुछ झोपड़ी को भी तोड़ दिया गया। पक्क मकानों और झोपड़ी को तोड़ने के बाद विभाग के पदाधिकारी सीओ और पुलिस जवानों के साथ उन खेतों पर पहुंचे। जहां ग्रामीणों द्वारा वन भूमि को अतिक्रमण कर खेती किया जा रहा था। लिहाजा, आठ एकड़ अतिक्रमित वनभूमि से फसलों को नष्ट किया गया। जानकारी के अनुसार डुमरीटोला में ग्रामीणों द्वारा अवैध तरीके से वनभूमि का अतिक्रमण कर लिया था। मामले में एक व्यक्ति की शिकायत के बाद गांवा वन प्रक्षेत्र पदाधिकारी हरकत में आएं। और पूरे मामले की जांच की गई। तो मामले को सही पाया गया। इसके बाद अतिक्रमणकारियों के घर पर वन विभाग द्वारा नोटिस भी चिपकाया गया। लेकिन किसी अतिक्रमणकारी ने जब अपने अतिक्रमण को नहीं हटाया। तो मंगलवार को उनके खिलाफ कार्रवाई की गई।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी