गिरिडीह ओपेनकाॅस्ट से शुरु हुआ कोयले का उठाव, आजसू व झामुमो की जुगलबंदी नेे पस्त किए आंदोलनकारियों के हौसले

आंदोलनकारियों से निपटने के लिए ओपेनकाॅस्ट खदान में तैनात था भारी सुरक्षा बल

कहीं नहीं दिखे आंदोलनकारियों के समर्थन करने वाले भाजपा व कांग्रेस के प्रतिनिधी

माले नेताआंे ने किया विरोध, कंसा तंज

गिरिडीहः
तमाम विरोधो के बीच मंगलवार को गिरिडीह के ओपेनकाॅस्ट कोयला खदान से मैथन पाॅवर लिमिटेड एमपीएल का कोयले के उठाव का खेल शुरु हुआ। लेकिन कोयले के उठाव में पक्ष व विपक्ष यानि आजसू और झामुमो के गठबंधन का जबरदस्त उदाहरण देखने को मिला। क्योंकि एक तरफ एमपीएल के समर्थन में स्थानीय सदर विधायक सुदिव्य कुमार सोनू के समर्थक और झामुमो के कार्यकर्ता खड़े थे। तो दुसरी तरफ आजसू अध्यक्ष सह सांसद प्रतिनिधी गुड्डु यादव भी अपने समर्थकों के साथ कोयले के उठाव की जानकारी लेने में व्यवस्त रहे। आजसू और सत्तारुढ़ दल झामुमो के आपसी तालमेल के कारण खदान से कोयला उठाव शुरु हुआ। इन दोनों संगठनों की तगड़ी जुगलबंदी ने आंदोलनकारियों के हौसले पस्त कर दिए। हालांकि इसी आजसू के एक नेता कंपू यादव शुरु से ही आंदोलन में शामिल है।
लिहाजा, मंगलवार से एमपीएम के कोयले का उठाव शुरु हुआ। तो बोकारो के ढोरी एरिया के एसओपी प्रत्युन कुमार ने न्यूजविंग से बातचीत के क्रम में कहा कि पहले दिन 13 हाईवा में कोयला लोड किया गया है। वह भी बगैर मजदूरों के। क्योंकि हर हाईवा में पेलौडर से कोयले का उठाव किया जा रहा था। एमपीएल के कोयले उठाव में उनके प्लाॅनरों में कोयला कारोबारी सह ट्रांसपोर्टर गुड्डु सिंह, शंकर यादव समेत झामुमो के कई कार्यकर्ता मौजूद थे। पहले दिन जहां 13 हाईवा में कोयला लोड हुआ। तो दुसरे दिन बुधवार से ही 40 हाईवा में कोयले लोड किए जाने की बात कही गई। इस दौरान कोलियरी के पीओ ए.के सिंह ने कहा कि बुधवार से 40 हाईवा के लिए कोयले का उत्पादन किया जाएगा। क्योंकि 22 सितबंर तक एमपीएल को एक हजार 900 सौ 54 टन कोयले का उठाव पूरा कर लेना है।


इधर पूरे हालात में नजर रखने के लिए ओपेनकाॅस्ट में ढोरी एरिया के एसओपी प्रत्युन कुमार के साथ गिरिडीह कोलियरी के प्रबंधक ए. के सिंह समेत सदर एसडीपीओ अनिल सिंह, गांडेय पुलिस निरीक्षक रत्नमोहन ठाकुर, नगर थाना प्रभारी रामनारायण चाौधरी और पचंबा थाना प्रभारी नीतिश कुमार भारी पुलिस बल के साथ मौके पर मौजूद थे। लिहाजा, पिछले 12 दिनों से एमपीएल के चोर दरवाजे से कोयला उठाव की प्लानिंग का विरोध करने वाले ट्रक मालिक और डीओ होल्डर भी भारी पुलिस बल को देखकर वहां से खिसकना ही उचित समझे। यहां तक कि आंदोलन के समर्थन में वहां हाईवोल्टेज ड्रामे की राजनीतिक करने वाले भाजपा, कांग्रेस के नेता भी इस दौरान वहां से गायब दिखें।


हालांकि खदान से कोयले का उठाव शुरु होने के साथ कुछ पल के लिए ट्रक मालिकों और डीओ होल्डरों के समर्थन में भाकपा माले नेता राजेश सिन्हा और राजेश यादव ट्रक मालिक राजेन्द्र यादव, कंपू यादव, कमलचंद साहु के साथ प्रदर्शन के लिए खड़े थे। मानसून की बारिश के बीच हो रहे कोयला उठाव को लेकर माले नेताआंे ने विधायक और झामुमो पर तंज कसते हुए कहा कि एमपीएल का एक कार्यालय यहां भी खोल देना चाहिए। क्योंकि मजदूरों और ट्रक मालिकों के रोजगार को प्रभावित कर एमपीएल को कोयला उठाव शुरु कराया गया है।

Please follow and like us:
Show Buttons
Hide Buttons
বাংলা English हिन्दी